1

Results

Author

Raj Gor

Words And Voices 14: “शौक या मजबूरी”
Words And Voices 14: “शौक या मजबूरी”

कोई कुछ होता नहीं,कोई कुछ ऐसे ही बनता नहीं, हररोज़ अपने जिस्म को कोई युही बेचता नहीं, हालात होते है कुछ ऐसे जो कुछ बना देते है, जनाब,वरना वैश्या बनना किसी का शौक़ नहीं।...